टॉप 5: टॉप पाँच बचाव करने वाले प्रो कबड्डी खिलाड़ियों की सूची पे एक बार नजर…

-रजत खडे

आक्रामकता और बचाव दोनों किसी भी खेल का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। क्रिकेट मैं जैसे बल्लेबाजों और गेंदबाजों दोनों महत्वपूर्ण हैं, साथ ही कबड्डी में चढ़ाईपटु और बचावपटु का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है. किसी भी खेल मैं बचावपटु का किरदार बहुत महत्वपूर्ण है

एक बल्लेबाज एक टीम को मैच जीता सकता है पर टीम के गेंदबाज प्रतियोगिता जीता देते हैं. उसी तरह से कबड्डी मैं चढ़ाई करने वाला मैच जीता दे सकता है पर टीम के अगर दीवारें मजबूत नहीं हैं, तो टूर्नामेंट जीतना मुश्किल है, इसलिए टीम के बचाव करने वालों को मजबूत होना चाहिए।

कबड्डी मैं टीम मैं केवल 7 खिलाड़ी खेलते है , लेकिन उन्हें कम से कम चार बचाव करने वालों की जरूरत है। उसी मैं ऑलराउंडर खिलाड़ी भी शामिल हो सकता है। आक्रामक रूप के साथ ही साथ बचाव करना भी आवश्यक है। कबड्डी मैं सात मैं से चार जगह बहुत ही महत्वपूर्ण है जैसे कि राईट कॉर्नर, लेफ्ट कॉर्नर, राईट कव्हर, लेफ्ट कव्हर ये सभी एक तरह से टीम के चार महत्त्वपूर्ण दीवारें है।

प्रो कबड्डी के अभी तक के पाँच सीज़न के बचाव करने वाले खिलाड़ियों का किरदार बहुत ही महत्वपूर्ण है। प्रो कबड्डी के टॉप पाँच बचाव करने वाले खिलाड़ियों की सूची पे एक बार नजर डाले –

मनजीत चिल्लर: लेफ्ट कव्हर (अष्टपैलू)
प्रो कबड्डी के अभी तक के सबसे बड़े कामयाब बचाव करने खिलाड़ी है। मनजीत ब्लॉक और डॅश करने मैं बहुत ही माहीर है। टीम के जित मैं भी मनजीत का बहुत बड़ा योगदान होता है। मनजीत ने आपने अनुभव से भारतीय टीम मैं भी बहुत ही महत्वपूर्ण जिम्मेदारी निभाई है।

मनजीत ने अभी तक प्रो कबड्डी मैं 74 मैच खेले हैं साथ ही पकड़ करने में सबसे ज्यादा 243 अंक मनजीत के नाम पर है। एक ही मैच मैं पाँच और उससे भी ज्यादा पकड़ करने वाले अंक प्राप्त करने का कारनामा 19 बार मनजीत ने किया है। सीज़न 6 मैं भी मनजीत तमिल थालावज इस टीम की तरफ से खेलते हुए दिखाई देंगे।

सुरेंद्र नाडा: लेफ्ट कॉर्नर
प्रो कबड्डी मैं अभी तक सबसे बेहतरीन लेफ्ट कॉर्नर बचाव करने वाले खिलाड़ि मतलब नाडा। नाडा इनकी और एक खूबी है यानी कि नाडा चढ़ाई करने वाले खिलाड़ियों का अँकल होल्ड करने मैं बड़े ही माहिर हैं और सुरेंद्र नाड़ा ने साथ ही प्रो कबड्डी मैं 19 बार हाय फाई भी किया है । सुरेंद्र नाडा ने अभी तक खेले हुए 80 मैचों में 218 पकड़ अंक मिल गए है। हरियाणा स्टीलर्सने एफबीएम कार्ड का इस्तेमाल करके नाडा को 6 सीज़न मैं फिर से अपने साथ ही मतलब कि हरियाणा टीम मैं फिर से रखा।

मोहित चिल्लर: राईट कॉर्नर
कबड्डी मै कार्नर पे लगाने जाने वाले बेहतरीन जोडी मतलब नाडा- मोहित की जोडी. मोहित चिल्लर एंगल होल्ड करने मैं बड़े ही माहिर है। उसी के साथ ही चेन करके पकड़ने मैं वो बड़े ही शातिर है। मोहित ने अभी तक प्रो कबड्डी मैं 77 मैच खेले हैं और 209 अंक उनको पकड़ करने मैं मिले है। मनजीत और नाड़ा इन दोनों के बाद ज्यादा हाय फाय करने वाला खिलाड़ी यानी कि मोहित। मोहित चिल्लर 6 सीज़न मैं जयपुर पिंक पँथर की और खेलते हुए दिखाई देंगे। पाँच सीज़न के बाद पहेली बार नाडा और मोहित अलग अलग टीम के तरफ से खेलेंगे

संदीप नरवाल: राईट कॉर्नर (अष्टपैलू)
संदीप प्रो कबड्डी मैं सबसे ज्यादा मैच खेले हुए एक खिलाड़ी है। संदीप नरवाल चुस्त और आक्रामक खिलाड़ी हैं और उनका बॅक होल्ड और पकड़ बहुत ही जबरदस्त है। प्रो कबड्डी मैं सबसे ज्यादा 83 मैच खेले हुए खिलाड़ी है और साथ ही पकड़ करने मैं उनको 213 अंक मिले हैं। 14 बार उन्होंने हाय फाय किया है, 6 सीज़न के लिए पुणे पलटण ने संदीप को पहेले ही रिटेन किया था।

रविंदर पहल: राईट कॉर्नर
रविंदर पहल आक्रमक बचाव करने वाले और साथ ही बॅकहोल्ड करने मैं माहीर है। प्रो कबड्डी मैं अभी तक 67 मैच खेले हैं और साथ ही उन्होंने पकड़ मैं 200 से अधिक अंक मिलने के सूचि मैं 204 अंक के साथ पाँचवे स्थान पर है। 16 बार हायफाय भी किया है. 6 सीज़न मैं रविंदर दबंग दिल्ली इस टीम मैं खेलते हुए नजर आएंगे

ऊपर के पाँच खिलाड़ी के साथ धर्मराज चिरलासन, गिरीश इरणाक, सुरजीत सिंग, विशाल माने, निलेश शिंदे, फझल अत्राचली ये खिलाड़ी भी बचाव करने मैं प्रो कबड्डी मैं बहुत ही अच्छी तरह से अपनी जिम्मेदारी निभाई है

प्रो कबड्डी के पाँच सीज़न के बेस्ट डिफेंडर-

सीज़न 1: मनजीत चिल्लर (51अंक,16 मैच)
सीज़न 2: रविंद्र पहल (60 अंक,14 मैच)
सीज़न 3: मनजीत चिल्लर (61 अंक,15 मैच)
सीज़न 4: फझल अत्राचली (52 अंक,16 मैच)
सीज़न 5: सुरेंद्र नाडा (80 अंक,21 मैच)

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.